ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
वीर हैं, जो वीरों की तरह लड.चला
June 9, 2020 • निशा अमन झा  • कविता

*निशा अमन झा 

शहीदों का कोई मजहब नहीं होता !
वीर हैं, जो वीरों की तरह लड.चला , 
और आज वीरों की तरह
सीना चौड़ा कर चला ! 
सियासी सियासत करतें रहे ! 
वह नाम अमर कर चला, 
शोकपूर्ण ये वतनदारी नहीं ! 
जश्ने वतन कर चला , 
कतार में खड़े ओर भी हैं ! 
पर नाम पहला वो कर चला , 
नहीं चाहता शोक सभा  ! 
बस बेखौफ रहें भारत मेरा , 
बेख़बर हर जर्रा - जर्रा रहे  ! 
हर इंसान रहें  बेपरवाह !! 
*जयपुर राजस्थान
 

अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com

यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw