ALL लॉकडाउन से सीख कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
तुम मंगल कर्ता तुम विघ्नहर्ता, तुम सिद्धिदाता  
April 2, 2020 • तनूजा कादरे • कविता

*तनूजा कादरे

तुम संकटनाशक, तुम एकदंत तुम  अष्टविनायक
तुम सबके प्राणों के रक्षक, हाथ जोड़कर विनती है की,
अब बन जाओ तुम कोरोंना के भक्षक
 
करोड़ों देशवसियों के तुम हो दाता
हर नर नारी तुम्हे बुलाता
विपदा से तु मुक्ति दिलाता
प्रेम करुणा के तुम सागर
पार करो तुम हमरी नैया
तुम संसार के हो खिवैया
आस तुम्हारी ही है प्रभु हमको ,
दूर करो कोरोणा के भ्रम को
 
खत्म करो तुम इसके डर को
नाश करो तुम इसकी लहर को
अंत करो तुम इसके लहर को
हाथ जोड़कर फिर विनती है
 प्रभु मानवता का  दीप जला दो
कोरोना वायरस से आजादी दिला दो
*तनूजा कादरे,उज्जैन
 

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/ रचनाएँ/ समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखे-  http://shashwatsrijan.com