ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
स्वस्थ जीवन का आधार हैं पेड़-पौधे 
July 8, 2020 • सुषमा दीक्षित शुक्ला • लेख

*सुषमा दीक्षित शुक्ला

पत्ती से लेकर जड़ों तक न जाने कितने फायदे होते हैं एक पेड़ के। दवाइयां ,भोजन ,कपड़े से सुरक्षा तक पेड़ों के बहुत फायदे हैं।पेड़ों की खासियत यह है कि इसका कोई भी हिस्सा अनुपयोगी नहीं होता ,चाहे पत्तियां हो ,तना हो , बीज ,फल ,फूल सब कुछ इंसान और प्रकृति के लिए फायदे से भरे होते हैं । ये हमारे जीवन के लिए कितने महत्वपूर्ण हैं इसके बारे में कक्षा 3 के बच्चे हम से बेहतर जानते हैं। पहले दुनिया में पेड़ों और हरी भरी वनस्पति का राज था।आदिमानव ने हरे भरे साथियों से दोस्ती कर ली थी। उनका खाना ,पहनना , ओढ़ना ,रहना सब कुछ उन्हें यह पेड़ ही उपलब्ध कराते थे। इन पेड़ों ने हमारे पूर्वजों तक का यहां का आगमन देखा है ,लेकिन के विकास की प्रक्रिया शुरू हुई तबसे पेड़ों  के बुरे दिन शुरू हो गए । पेड़ों के काटने से हमारी सभ्यता का नुकसान हुआ है । पेड़ो का सब कुछ हमारे लिए हर क्षेत्र में उपयोगी होती है। यहाँ तक की बरसात ,हवा और भोजन ,कपड़ा  मकान हर काम मे आते है पेड़ पौधे ।जीवन के शुरू से अंत तक कितना रोल है पेड़ पौधों का । अधिकतर पेड़ों की पत्तियां हरे रंग की होती है यह पत्तियां मुख्य रूप से पेड़ के लिए सूर्य की रोशनी की उपस्थिति में भोजन बनाते हैं। इसके लिए यह वातावरण से कार्बन डाइऑक्साइड जहरीली गैस लेती है और ऑक्सीजन बाहर निकालते हैं ।इस तरह पत्तियां ऑक्सीजन के रूप में जीवो को प्राणवायु देती हैं ।


सारे अनाज जो हमे जीवित रखते है अन्न देव इसी लिए कहे जाते हैं गेंहू चावल ,चना, जौ ,दालें तिलहन वह सब हमे इन पौधों से ही तो बीज के रूप मे  मिलते है चाय ,काफी, चीनी ,गुड़ ,के अलावा सारे मसाले कौन देता है ये पेड़ ,ये पौधे ,जरा सोचो हम कितना निर्भर है इन पेड़  पौधों पर । कई पौधों की पत्तियां पालक,मेथी ,चौलाई , सोया ,नारी साग चने का साग बथुए का साग आदि भोजन के रूप में की  ग्रहण की जाती हैं जिनमें अत्यंत मात्रा में विटामिन, कैल्शियम और आयरन पाया जाता है ।और भी सारी सब्जियां कोई  पत्ती तो कोई  फूल ,कोई तना तो कोई फल या फूल भी भोजन का एक एक मुख्य प्रकार है जो अनगिनत गुणों से युक्त होता है।
औषधि के रूप में तो पौधों का जवाब नहीं । पूरा आयुर्वेद सिद्धांत की प्रकृति पर निर्भर है । एक से एक गंभीर और असाध्य रोग का इलाज भी पेड़ पौधों से ही करते हैं ।तुलसी ,पुदीना ,एलोवेरा गिलोय सहित हजारों पेड़ पौधे जो कि एक से एक जटिल बीमारियों, लाइलाज बीमारियों को ठीक करते हैं।
यह इन पौधों की ही देन है  कि दवाई से लेकर भोजन में प्रयोग किए जाते हैं । खाए जाने वाला आलू है जो मनुष्य के भोजन का एक मुख्य अंग है जिसे प्रचुर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट मिलते हैं। एक पौधे का भाग ही तो है शकरकंद ,मूली गाजर आदि के रूप में हम कुछ पौधों की जड़े खाते हैं ,जिनमें अत्यंत मात्रा में विटामिन प्रोटीन आयरन और कैल्शियम होता है। फलों का क्या कहना आम, केला, अमरूद ,अनार ,रसभरी सेव  समेत पता नहीं कितने फल जो हमें जीवन देते हैं । कहते हैं एक अनार सौ बीमार। एक अनार कितना उपयोगी है कि सौ बीमार उससे ठीक हो सकते हैं  कितने मिनरल विटामिन्स होते है इन फलो मे,,ये फल पेड़ पौधों की दी सौगात है।और सब्जियां जो मनुष्य की भोजन का एक बहुत बड़ा हिस्सा  हैं , हम लोग रोज ही ग्रहण करते हैं ।हरी सब्जियां  पेड़ पौधों की ही देन है ,चाहे वह उनके फल, फूल के रूप में उनकी पत्तियों के रूप में उनकी जड़ों के रूप में हो। हमारे इको सिस्टम की बुनियाद हैं पेड़ पौधे । अगर हम भोजन बनाने वाले व खाने वाले के आधार पर एक पिरामिड बनाए तो इकोसिस्टम में पेड़-पौधे ही सबसे बुनियादी रोल में होते हैं । सूरज की रोशनी से भोजन बनाने की कला पेड़ पेड़ों के अलावा किसी जीव के बस में नहीं होती। शाकाहारी जीव इन्हें खाते हैं शाकाहारी जीवो को मांसाहारी जीव खाते हैं ।
यदि पेड़ न होंगे तो सिर्फ वातावरण प्रदूषित नहीं होगा बल्कि हर छोटे-बड़े सभी जीव मर जाएंगे ।पेड़ों के बीज, फूल ,पत्ती, तना,फल जड़ें सब कुछ हमें भोजन देते हैं ।दवाएं भी देते हैं। पूरा वातावरण दुरुस्त रखते हैं वर्षा देते हैं ,जल देते हैं ,तो पेड़ पौधों का कितना रोल है जिसकी जिसको लिख पाना मुश्किल हो रहा ।
स्वस्थ जीवन का आधार  पेड़ पौधे ही हैं।

अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com

यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw