ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
सपनों को सच होने दो 
September 4, 2020 • ✍️रूपेश कुमार • कविता
✍️रूपेश कुमार
 
सपनों को सच होने दो ,
जीवन को मत रोने दो ,
जीवन है बहुमूल्य हीरा ,
जीवन को जग से जीने दो ,
सपनों को सच होने दो तुम !
 
रह ना जाए कोई बेकार ,
जीवन को मत भूलने दो ,
जीवन है फूलों का हार ,
जीवन को जग जितने दो ,
सपनों को सच होने दो तुम !
 
प्यार के चक्कर मे पडोगे तो ,
मोबाइल मे रहोगे तुम ,
जीवन दो पल की चीज है ,
इस पल को बर्बाद करोगे तुम ,
सपनों को सच होने दो तुम !
 
जीवन मे ऐसा करो तुम ,
तुम्हारे पीछे पूरी जहाँ घूमे ,
ना किसी के प्यार के चक्कर मे पड़ो तुम ,
ऐसा करो की तुम्हारे चक्कर मे दुनिया पड़े ,
सपनों को सच होने दो तुम !
 
कॉल करके रास्ते मे बुलाती हो ,
मिलने के बहाने पढ़ने जाती हो ,
अभी तक तुम ना सम्भलोगी तो तुम ,
तुम्हारी दुनिया नर्क बन जाएगी एक दिन ,
सपनों को सच होने दो तुम !
 
शिक्षक तुम्हें ज्ञान सिखलाते ,
कभी ना तुमको गलत राह दिखलाते ,
तुम शिक्षकों का आदर करोगी तो ,
प्रेम का चक्कर छोड़ पुस्तकों से प्रेम करोगी तुम ,
सपनों को सच होने दो तुम !
 
अभी भी समय है तुम्हारे पास ,
पढ़ाई से प्रेम करोगी तुम ,
जीवन मे शिक्षकों को आदर करोगी तो ,
प्रेम से भी ज्यादा खुश रहोगी तुम ,
सपनों को सच होने दो तुम !
 
सभलना है तो संभल जाओ ,
अभी भी समय है छात्रों ,
नर्क से बच सकतें हो तुम ,
जीवन मे खुशियाँ चाहों तो ,
सपनों को सच होने दो !
 
शिक्षक के कहें पथ पे चलो तुम ,
सारी खुशियाँ तुम्हें मिलेगी ,
सारा जहाँ तुम्हारे पीछे-पीछे घूमेगा ,
ऐसा जीवन जियो तुम तुम !
 

अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com

यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw