ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
सहज समान
October 29, 2019 • डॉ साधना गुप्ता • कविता

पालन हो सहज समान 
परस्पर करें सभी सम्मान 
रक्षा का हो मानस ध्यान 
बेटी-बेटा हो एक समान 
रक्षा दोज रहे अभिधान 
विचारों में रहे यही बस आन 
तभी जगत में होगी शान 
मनुज का मनुज करे सम्मान 
सभी के मन की हो यह तान 
सफल भू पर मानव का मान
 
*डॉ साधना गुप्ता कोटा,मो. 9530350325
 

शब्द प्रवाह में प्रकाशित आलेख/रचना/समाचार पर आपकी महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया का स्वागत है-

अपने विचार भेजने के लिए मेल करे- shabdpravah.ujjain@gmail.com

या whatsapp करे 09406649733