ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
ओम व्यास ओम स्मृति सम्मान से सम्मानित हुए साहित्यकार
July 9, 2020 • शब्द प्रवाह समाचार • समाचार
संदीप सृजन को "सेनेटाइजर स्प्रे सम्मान" से नवाजा गया
उज्जैन। हास्याचार्य कवि पंडित ओम व्यास ओम की 11 वीं पुण्यतिथि का अनूठा "हास्य को...रोना" समारोह का आयोजन ओम हास्याय नमः संस्था द्वारा तरणताल  स्थित ओम स्मारक पर किया गया। "हमारा टास्क - चेहरे पर मास्क" के उदघोष के साथ स्वामी मुस्कुराके (शैलेन्द्र व्यास) द्वारा उपस्थित ओम प्रेमियों को सेनेटाइज कर "फोकटिया" कम्पनी के मास्क वितरित किए गए। हास्य और व्यंग्य की बौछारों के बीच शाश्वत सृजन और शब्द प्रवाह के संपादक, साहित्यकार संदीप सृजन को "सेनेटाइजर स्प्रे सम्मान" से नवाजा गया । उक्त सम्मान प्रेमसिंह यादव, हास्य रसिक दिनेश विजयवर्गीय , प्रवीण सिंह ठाकुर, संजय व्यास, पी एन शर्मा'पथिक', स्वामी खिलखिलाके, स्वामी दिलमिलाके, व्यंग्यकार मुकेश जोशी द्वारा प्रदत्त किया गया।
साथ ही व्यंग्यकार रमेश शर्मा जो की कोरोना को हराकर कर आए उन्हें "कोरोना पछाड़ सम्मान", कवि दौलतसिंह दरबार को "ब्लेक कवारनटाईन अलंकरण" कवि राहुल शर्मा को "कोरोना काव्य अभिनन्दन" एवं राजेन्द्र देवधरे दर्पण को "वायरस व्यंग्य अलंकरण" प्रदान किये गये।
कवि सुरेन्द्र सर्किट ने हास्य की फूल झडियो के द्वारा संचालन किया। अंतरराष्ट्रीय कवि अशोक भाटी ने मालवा के प्रसिद्ध लोक व्यंग्य गीत "धीरे आन दे री" की तर्ज पर गाते हुए कहा कि..'दुल्हन बैठी मास्क लगाकर, ये कैसी मधु रात... लाड़ा-लाड़ी इक कमरे में ,दूरी कुल छे हाथ।' संदीप सृजन ने अभिव्यक्ति में कहा कि- 'ढलती सांझ से सवाल मत करो, सूरज उगे तो बवाल मत करो। दुनिया हर घड़ी बदलती है,बदलाव का मलाल मत करो' कवि राहुल शर्मा ने भी मालवी बोली में गीत पढ़ा और खूब दाद बटोरी। हास्यमयी आदरांजलि में नगर के कई ओम प्रेमी उपस्थित थे। अंत में राजगरे के लड्डू और चूर्ण का अनुठा भंडारा किया गया।
 
 
अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।
साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com
यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw