ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
जिंदगी को इक नया-सा मोड़ दें
March 31, 2020 • डॉ. अनिता सिंह • कविता

*डॉ. अनिता सिंह

जिंदगी को इक 
नया-सा मोड़ दें।
अपनी कश्ती को 
यूँ भवर में न छोड़ दें। 
पार करना है 
कोरोना की लहर को,
खौफ की सारी 
हदों को तोड़ दें।
कैद कर लिजिए
खुद को घरों में 
लोगों से मिलना 
मिलाना छोड़ दें। 
 
*डॉ. अनिता सिंह ,बिलासपुर ,छत्तीसगढ़ 
 

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/ रचनाएँ/ समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखे-  http://shashwatsrijan.com