ALL लॉकडाउन से सीख कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
बेबसी सी हुई जिंदगी इन दिनों
March 31, 2020 • नवीन माथुर पंचोली • गीत/गजल

*नवीन माथुर पंचोली

बेबसी सी  हुई जिंदगी इन दिनों।
भूल ही हम गए शायरी इन दिनों।
 
ख़ौफ़ इक  सारी  दुनियाँ  में छाया हुआ,
इस तरह कुछ हवाएँ चली इन दिनों।
 
घर से  निकले  तो  लोगों ने चमका दिया, 
यूँ नहीं ये सफ़र लाज़मी इन दिनों।
 
शब अंधेरे  उठाने  को तैयार है,
आग बरसा रही चाँदनी इन दिनों।
 
लग रही हो हमारी जुबाँ तल्ख़ गर,
है किसी से सिला न बदी इन दिनों।
 
दूरियाँ ही  सलामत  रखेगी  तुम्हें,
ये रिवायत निभा लो सभी इन दिनों।
 
*नवीन माथुर पंचोली,अमझेरा धार मप्र
 

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/ रचनाएँ/ समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखे-  http://shashwatsrijan.com