ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
अन्तर्मन के शब्द चित्र ( काव्य संग्रह)
November 11, 2019 • शब्द प्रवाह • समीक्षा/पुस्तक चर्चा

          कवि राजेन्द्र प्रसाद जोशी ने अपने काव्य संग्रह अन्तर्मन के  पृष्ठों में 68 कविताओं का समावेश कर यह काव्य संग्रह अपनी माताजी स्व0 तुलसीदेवी के चरणों में अर्पित की हैं । कवि ने अपने काव्य संग्रह की कविताओं के माध्यम से बडा ही अच्छा संदेश दिया है कि व्यक्ति को हर हाल में मुस्कुराते रहना चाहिए । आज के समय में किसी को हंसाना भी एक कला है । 
          देश व समाज के सपनों को ग्रहण लग चुका है  , किन्तु कवि निराशा में नहीं जीता है । यही वजह है कि जोशी की लिखी गई हर कविता जीवन में कर्मठता व कर्मणयता का संदेश देती है । चूंकि कवि का बचपन से ही कविताओं के प्रति लगाव रहा है । उन्होंने कविताओं के माध्यम से जीवन के हर पहलू को स्पर्श करने का प्रयत्न किया है । अतः आशा हैं कि आज की युवापीढ़ी को कविताओं के माध्यम से सकारात्मक सोच मिलेगी । 
       कवि जोशी की सभी कविताएं सराहनीय है वही दूसरी ओर पंछी , मौत के सौदागर, आंसू  , मेरे भी सपने , उपवन , छोटा आदमी सराहनीय लगी वही दूसरी ओर कवि ने आदमी कविता के माध्यम से बताया है कि आज का आदमी सांप से भी अधिक  जहरीला हो गया है । वही कवि जोशी की लिखी कविताएं आधुनिक नारी , तुम कैसी मां हो , मेरे अरमानो को बाल श्रमिक  , गरीब की बेटी , दौड व बुजुर्ग कविताओं के माध्यम से नारी व समाज पर करारा व्यंग किया है । 
           कवि जोशी ने फूलों के माध्यम से हर हाल में मुस्कुराते रहना चाहिए का संदेश दिया है । जोशी की कविताओं के बारे में अधिक कहना सूर्य को दीपक दिखाना होगा । कवि ने अपनी लेखनी को शहद रूपी स्याही में डूबोकर ऐसी प्रेरणादायक कविताएं लिखी है  हर कविता प्रेरणादायक है व हमारा मार्ग दर्शन करने वाली है । पुस्तक की भूमिका साहित्यकार डाॅ आईदान सिंह भाटी ने लिखी है कवि जोशी स्वयं मानवता प्रेमी , शान्त स्वभाव के व्यक्ति है तथा सादा जीवन और उच्च विचारों के धनी है । जोशी की साहित्य के प्रति गहन रूचि का ही यह परिणाम है कि अब तक उनकी तीन पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है । मानव कल्याण के लिए वे सदैव तत्पर रहते है ।
अन्तर्मन के शब्द चित्र ( काव्य संग्रह )
रचियता : राजेन्द्र प्रसाद जोशी
प्रकाशक : मीरा साहित्य संस्कृति एवं कला संस्थान , मेडता शहर , जिला नागौर , ( राजस्थान ) पिन 341510
कवर पृष्ठ : श्याम सुन्दर सिखवाल, मुद्रक : जांगिड कम्प्यूटर्स जोधपुर राजस्थान । सम्पर्क सूत्र : राजेन्द्र प्रसाद जोशी, रघुनाथ जी के मंदिर के पास मेडता शहर जिला नागौर, राजस्थान पिन 341510 मोबाइल नम्बर 09460273733 पृष्ठ 80 मूल्य 100 रूपये ।
 
सुनील कुमार माथुर
33 वर्धमान नगर शोभावतो की ढाणी खेमे का कुआ पालरोड जोधपुर राजस्थान पिन 342001
 

शब्द प्रवाह में प्रकाशित आलेख/रचना/समाचार पर आपकी महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया का स्वागत है-

अपने विचार भेजने के लिए मेल करे- shabdpravah.ujjain@gmail.com

या whatsapp करे 09406649733