ALL लॉकडाउन से सीख कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
ऐसी दिवाली मनाएँ हम (कविता)
October 26, 2019 • admin
*सविता दास सवि*
दीपों की माला 
सजाएँ हम
अंधियारे को 
दूर करें
आया है उत्सव
 प्रकाश का तो
मन का तमस भी
 दूर करें
कोई भी चौखट 
ना सूनी रहे
कोई उदर भी
ना भूखा रहे
सभी को अपना
बनाएं हम
ख़ुशियों की रोशनी
फैलाएँ हम
बड़ो का हो सम्मान
छोटों को प्यार
जोड़े परिवार को
मन के ये तार
यूँ कतारों में प्रकाश
सजाएंगे हम
रंगोली प्रेम की
बनाएंगे हम
कुंठित ना हो कोई
वंचित ना हो
नाउम्मीदी से कोई
परिचित ना हो
एकता की फूलझड़ी
जलाएंगे हम
मन का द्वेष
मिटाएँगे हम
    
*सविता दास सवि,तेज़पुर ,असम
 

शब्द प्रवाह में प्रकाशित आलेख/रचना/समाचार पर आपकी महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया का स्वागत है-

अपने विचार भेजने के लिए मेल करे- shabdpravah.ujjain@gmail.com

या whatsapp करे 09406649733