ALL कविता लेख गीत/गजल समाचार कहानी/लघुकथा समीक्षा/पुस्तक चर्चा दोहा/छंद/हायकु व्यंग्य विडियो
 सावधानी पूरी रख
June 10, 2020 • डॉ.अनिल शर्मा 'अनिल' • कविता
*डॉ.अनिल शर्मा 'अनिल'
आंकड़ों के जाल में , उलझ गया जो  तू अगर।
तो हो भ्रमित,चल पड़ेगा, आत्मघाती तू डगर।।
 
बढ़ रहा है संक्रमण, हो न जाना संक्रमित।
आएगा चपेट में हर, असावधान और भ्रमित।।
कोई जरा सी भी चूक, बन सकती है कहर।
 
सावधानी पूरी रख , सभी नियम को पालना।
खान-पान,स्वच्छता,न हाथ धोना टालना।‌।
भूलना न मास्क को,न होना इससे बेखबर।।
 
लाकडाउन खुल गया, तो भीड़भाड़ बढ़ चली।
भूल मत ये बात अभी, आपदा न यह टली।।
बचना तू इससे, कोरोना से न रह निडर।
 
हो जरुरी काम जब, तो जाना तू बाजार में।
दो गज की दूरी  को , अपना लें  व्यवहार में।।
व्यर्थ ही न घूमना , न व्यर्थ करना तू  सफर।
 
आरोग्य सेतु एप और,आयुष काढ़ा भूल मत।
स्वयं की सुरक्षा की , लेना अब स्वयं शपथ ।।
सबसे सुरक्षित है, तेरे लिए अपना घर।
*धामपुर, उत्तर प्रदेश
 

अपने विचार/रचना आप भी हमें मेल कर सकते है- shabdpravah.ujjain@gmail.com पर।

साहित्य, कला, संस्कृति और समाज से जुड़ी लेख/रचनाएँ/समाचार अब नये वेब पोर्टल  शाश्वत सृजन पर देखेhttp://shashwatsrijan.com

यूटूयुब चैनल देखें और सब्सक्राइब करे- https://www.youtube.com/channel/UCpRyX9VM7WEY39QytlBjZiw